संगणकचित्रकोश:

संचालक:
कटुवसनम्    

वातायनम्
मृदुवसनम्

सान्‍द्रमुद्रिका
हस्‍तम्रोट:
अबाधविद्युतदाता
अन्‍तरसंचालक:
मूषक:
पिंजपटलम्

मृदुवसनम्

टिप्पणियाँ

  1. चित्र सह अद्भुत विवेचनं! अभिनंदनम्|
    किम न भवान आंग्ल शब्दमपि ददिष्यते?

    उत्तर देंहटाएं
  2. जैसाकि मैने पहले ही बताया था, सह के योग में तृतीया होती है
    चित्रेण सह अभ्‍दुतं विवेचनम् ।
    अभिनन्‍दनम् ।
    किमर्थं न भवान् आंग्‍लशब्‍दमपि ददाति ।

    ददाति - देता है, देते हैं
    किम् - क्‍या
    किमर्थं - किस लिये

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

अपने सुझाव, समाधान, प्रश्‍न अथवा टिप्‍पणी pramukh@sanskritjagat.com ईसंकेत पर भेजें ।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गम् (जाना) धातु: - परस्‍मैपदी

अव्यय पदानि ।।

समासस्‍य भेदा: उदाहरणानि परिभाषा: च - Classification of Samas and its examples .

फलानि ।।

दृश् (पश्य्) (देखना) धातुः – परस्मैपदी