हिन्‍दीदिवसस्‍य हार्दिकी शुभकामना: ।



हिन्‍दी दिवसस्‍य हार्दिकी शुभकामना: सन्ति भवतां सर्वेषां कृते ।  हिन्‍दी अस्ति भारतीय संस्‍कृतभाषाया: ज्‍येष्‍ठा पुत्री ।  अतएव संस्‍कृतजगत् संस्‍कृतस्‍य ज्‍येष्‍ठपुत्री हिन्‍दीभाषाया: आयोजनदिवसे भवतां सर्वेषां कृते महती शुभकामना: प्रददाति ।  


भारतीयसंस्‍कृतस्‍य रक्षा करणीया चेत् हिन्‍दी सर्वेभ्‍य: स्‍वीकरणीय: एव । 


जयतु हिन्‍दीमाता
जयतु संस्‍कृतमाता


संस्‍कृतजगत्

टिप्पणियाँ

  1. साल में पितरों की तरह एक बार याद कर हिन्दी का श्राद्ध मना लिया जाता है बाकी दिन भुला दी जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपने सही कहा मित्र
    किन्‍तु इसके भी जिम्‍मेदार हम ही लोग तो हैं

    यदि हम अंग्रेजी आदि भाषाओं के चोंचले से निकलें तो शायद हर दिन हिन्‍दीदिवस हो ।

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

अपने सुझाव, समाधान, प्रश्‍न अथवा टिप्‍पणी pramukh@sanskritjagat.com ईसंकेत पर भेजें ।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गम् (जाना) धातु: - परस्‍मैपदी

अव्यय पदानि ।।

समासस्‍य भेदा: उदाहरणानि परिभाषा: च - Classification of Samas and its examples .

दृश् (पश्य्) (देखना) धातुः – परस्मैपदी

फलानि ।।