सप्त चिरजीविनः ।।

अश्वत्थामा बलिर्व्यासो हनूमांश्च विभीषणः 
कृपः परशुरामश्च सप्तैते चिरजीविनः ।।
१– अश्वत्थामा
२– बलि
३– व्यास
४– हनुमान
५– विभीषण
६– कृपाचार्य
७– परशुराम
                    एते सप्त चिरजीविनः सन्ति ।।
 
इति

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गम् (जाना) धातु: - परस्‍मैपदी

दृश् (पश्य्) (देखना) धातुः – परस्मैपदी

अव्यय पदानि ।।

शरीरस्‍य अंगानि

क्रीड् (खेलना) धातु: - परस्‍मैपदी